विद्यालय

गोंडा:समाजमेंशांतिव्यवस्थाबनाएरखनेकीजिम्मेदारीपुलिसकीहै।इसकेलिएवह24घंटेड्यूटीकरतेहैं।कहींभीउपद्रवकीसूचनापरहरसमयतैयाररहतेहैंलेकिन,इनकेलिएसुविधाएंनदारदहैं।यहांपुलिसलाइंससेलेकरविभिन्नथानोंमेंदोहजारसेअधिकसिपाहीतैनातहैं।इसमेंपुरुषकेसाथहीमहिलाआरक्षीशामिलहैलेकिन,इनकेरहनेकाइंतजामनहींहै।सिपाहियोंकेआवासकीबातकरेंतोपुलिसलाइनपरिसरमेंकुल292आरक्षियोंकेरहनेकोआवासबनाहै।यहीहालउपनिरीक्षकोंकाभीहै।इनकेलिएभीपर्याप्तभवननहींबनाहै।ऐसेमेंयेबाहरकमरालेकररहनेकोविवशहैं।

जिलेमेंकुल18थानेहैं।इनमेंपर्याप्तआवासनहींबनाहै।इससेपुलिसकर्मियोंकोरहनेमेंपरेशानीहै।ग्रामीणअंचलोंमेंमहिलापुलिसकर्मियोंकोअधिकदिक्कतहोतीहै।रहीबातपुलिसलाइनपरिसरस्थितआवासोंकीतोवहभीबदहालहैं।थानोंमेंतैनातमहिलापुलिसकर्मियोंकोरहनेकेपर्याप्तआवासनहोनेकेकारणउन्हेंबाहररहनापड़ताहै।ऐसेमेंकभीअचानककार्यपड़नेकाफीदिक्कतेंहोतीहैं।हालांकिविभागनेआवासमरम्मतवनिर्माणकोलेकरपहलेपुलिसमुख्यालयपत्रभेजचुकाहै।हालहीमेंचारथानोंमेंआरक्षीआवासनिर्माणकीआधारशिलारखीगईहै।

सप्ताहभरपहलेडीआइजीडॉ.राकेशसिंहवपुलिसअधीक्षकशैलेशपांडेयनेपुलिसलाइनपरिसरस्थितआवासोंकानिरीक्षणकिया।एसपीनेबतायाकिआवासकेसफाईवरंगाईकेनिर्देशदिएगएहैं।आरक्षियोंकेआवासनिर्माणकीकार्रवाईचलरहीहै।

By Garner