विद्यालय

विवेकविक्रमसिंह,अमेठीअमेठीकीराजनीतिकेनब्जकोसमझनेकेमाहिरसमझेजातेहैंकांग्रेसकेसुलतानपुरसेसांसदडॉ0संजयसिंह।अमेठीराजपरिवारऔरनेहरूगांधीपरिवारका1926सेहीगहरारिश्तारहाहै।लेकिनबोफोर्समामलेमेंराजीवगांधीकीसरकारघिरीतबडॉ.संजयसिंहनेभीकांग्रेसकासाथछोड़दियाथाऔरअमेठीसेविधानसभाचुनावलड़ाथा।यहअलगमतहैकिकांग्रेसमेंरहकरजहांवोसभीविपक्षीपार्टियोंकीजमानतजब्तकरादेतेथे,वहींकांग्रेससेअलगहोकरजीतनहींदर्जकरासके।बादमेंवोराज्यसभाकेलिएचुनेगए।1989मेंकेन्द्रमेंवीपीसिंहकीसरकारबनी,लेकिनवोअपनाकार्यकालपूरानहींकरसकी।सरकारगिरनेकेबादचन्द्रशेखरकीसरकारकांग्रेसकेसमर्थनसेबनीथी।उससरकारमेंउन्हेंपहलीबारकेन्द्रीयमन्त्रीकादर्जामिलाथाऔरवोस्वतन्त्रप्रभारराज्यमंत्रीकेतौरपरसंचारमंत्रालयकेमंत्रीबने।इसकेबादकेंद्रमेंनरसिम्हारावकेनेतृत्वमेंकांग्रेसकीसरकारबनी।इससरकारकेबादपहलीबारडॉ.संजयसिंहनेबीजेपीकादामनथामाथाऔरलोकसभाकाचुनावअमेठीसेलड़ाथाजिसमें1998लोकसभाचुनावमेंउन्होंनेकांग्रेसकेडॉ.सतीशशर्माकोशिकस्तदीथी।उससमयभीयेकयासलगाएजारहेथेकिएनडीएसरकारमेंउन्हेंजगहमिलेगीलेकिनऐसानहींहुआ।1999मेंसोनियागांधीखुदसक्रियराजनीतिमेंआगईं।संजयसिंहनेचुनावलड़नेऔरजीतनेमेंकोईकसरबाकीनहींरखी,इसकेबावजूदउन्हेंहारकासामनाकरनापड़ा।बोफोर्सप्रकरणऔरउसकेबादहुएतमामजांचोंकेदौरानडॉ.संजयसिंहकेबयानकाफीचर्चितरहेथे।उनकीपत्नीअमीतासिंहजिलापंचायतअध्यक्षथीं।पदसेइस्तीफादेकरउन्होंनेविधानसभाचुनावलड़ाऔरबीजेपी-बीएसपीगठबन्धनसरकारमेंउन्हेंराज्यमंत्रीदर्जामिलगया।इसकेबादबीजेपीजैसे-जैसेराज्यमेंपिछड़तीगई,संजयसिंहपार्टीसेकिनाराकरनेलगे।2004मेंजबयूपीएकीसरकारआई,तभीसेउनकाझुकावकांग्रेसकीतरफबढ़ाऔरवर्ष2009केलोकसभाचुनावमेंवहसुलतानपुरसेकांग्रेसकेटिकटपरलड़े।2009मेंलोकसभाचुनावमेंएसपीऔरकांग्रेसकेबीचगठबन्धनकीबातचलरहीथी।एसपीकांग्रेसको21सीटदेनाचाहतीथीपरकांग्रेस25परअड़ीथी।ऐसेमेंदोनोंकेबीचगठबंधननहींहोसकाऔरसंजयसिंहकोकांग्रेससेटिकटमिलगया।चुनावमेंउन्होंनेजीतदर्जकी।लेकिनइसबारफिरऐसालगताहैकिगांधीपरिवारवअमेठीकाराजपरिवारएकबारफिरआमने-सामनेआगएहैं।इनसेटयूंतोसुलतानपुरसेचुनेगएकांग्रेससांसदसंजयसिंहउसीसमयसेघुटनमहसूसकररहेथेजबउन्हेंयूपीएमेंमंत्रीनहींबनायागयाथा।उसकेबाद2012केविधानसभाचुनावमेंजबउनकीपत्नीरानीअमीतासिंहअमेठीमेंविधानसभाचुनावहारगईं।एकवजहऔरहै,जोबेहदमहत्वपूर्णसमझीजारहीहै।सुलतानपुरक्षेत्रसेवरुणगांधीकेचुनावलड़नेकीबातसामनेआईहै।वरुणगांधीकीकोरकमिटीकीटीमलगातारयहांकामकररहीहै।ऐसेमेंसांसदसंजयसिंहकोलगताहैकिवरुणगांधीसेहारनेकेबजायराहुलगांधीकेखिलाफचुनावलड़करहारनाउनकेलिएज्यादाफायदेमंदसाबितहोगा,क्योंकिराहुलकांग्रेसकेसबसेबड़ेनेताकेतौरपरप्रॉजेक्टकिएगएहैं।सूत्रोंकेमुताबिकसंजयसिंहनेपहलेफतेहपुरलोकसभाक्षेत्रसेचुनावलड़नेकाप्रयासकियाथा,लेकिनसहमतिनहींबनीतोबगावतकेअलावाकोईउपायनहींथा।कांग्रेसहुईसतर्कराजकरनऔरराजपतिकोलेकरहुईचिन्तितसंजयसिंहकेजन्मदिनपरआयोजितजनसभामेंपूर्वसांसदराजकरनसिंहऔरगौरीगंजकीविधायकराजपतिदेवीकीउपस्थितिगांधीपरिवारकेलिएचिन्ताकासबबबनगई।अबकांग्रेसकोकईझटकेझेलनेपड़सकतेहैं।10जनपदऔरराहुलगांधीकेकार्यालयसेजुड़ेसूत्रोंकेमुताबिककांग्रेसअबऔरसतर्कहोगईहैअपनेसभीब्लॉकअध्यक्षोंयेपूछाहैकिऔरकौनसेऐसेलोगहैं,जोपार्टीकेसाथबगावतकरसकतेहैं।गांधीपरिवारपार्टीसेबगावतकरनेवालोंसेसाथशुरुआतसेहीसख्तीसेनिपटतारहाहै।1999केलोकसभाचुनावकेदौरानभेटुआब्लॉककेएकबूथपरजबप्रियंकागांधीपहुंची,तोउन्होंनेअमेठीकेकांग्रेसविधायकरामहर्षसिंहकोसंजयसिंहकेसाथबैठेदेखा।इससेखफाहोकर2002केविधानसभाचुनावमेंउनकाटिकटकाटदियागया।संजयसिंहकेप्रभावकोदेखतेहुएप्रियंकागांधीनेप्रदेशकेतत्कालीनमुख्यमंत्रीकल्याणसिंहसेनिष्पक्षचुनावकरानेकेलिएमददतकमांगीथी।

By Fuller