विद्यालय

जागरणसंवाददाता,कैथल:प्रदेशकीमनोहरसरकारनेकैथलकेनेताओंकीपौ-बारहकरदी।पहलेसेएकराज्यमंत्रीऔरदोचेयरमैनोंवालेजिलेकोवीरवारकोदोऔरचेयरमैनीमिलगई।खासबातयहहैकिकरीबतीनदशकसेसक्रियराजनीतिकररहेकैलाशभगतकोपहलीबारसरकारमेंहिस्सेदारीमिलीहै।

उन्हेंहैफेडकाचेयरमैननियुक्तकियागयाहै।उन्होंनेइनेलोकीटिकटपरतीनबारसुरजेवालापरिवारकेखिलाफचुनावलड़ा,लेकिनबातनहींबनी।इनेलोकेटूटनेकेबादउन्होंनेअपनेपिताकेकहनेपरभाजपाज्वाइनकरली।भाजपानेउनकेकदकीकदरकीऔरहैफेडमेंताजपोशीकरदी।

दूसरेचेयरमैनबनाएगएहैंकिगुहलासेजजपाविधायकईश्वरसिंहकेबेटेरणधीरसिंह।हालांकिप्रदेशसरकारकेमंत्रिमंडलमेंजजपाकेखातेसेशामिलहोनेकेलिएविधायकईश्वरसिंहहाथ-पैरमारतेरहे,लेकिनजबइसदिशामेंबातबनतीनजरआईतोबेटेकोआगेकरकेहरियाणाडेयरीविकाससंघकाचेयरमैनबनवाया।रणधीरसिंहकीपत्नीनेवर्ष2014मेंगुहलासेचुनावलड़ाथा।

चारमार्च2019कोभाजपामेंशामिलहुएथेकैलाश

कैलाशभगतनेइनेलोकीसीटपरपहलीबारवर्ष2005मेंचुनावलड़ा।इसचुनावमेंकांग्रेसप्रत्याशीशमशेरसिंहसुरजेवालासे4800केकरीबवोटोंसेहारगएथे।वर्ष2009मेंनरवानाहलकाआरक्षितहोनेकेबादरणदीपसिंहसुरजेवालानेकैथलसेचुनावलड़ा।दूसरेबारकैलाशभगत22हजारवोटोंसेहारगए।वर्ष2014मेंतीसरीबारफिरसेइनेलोनेकैलाशकोप्रत्याशीबनाया।इसचुनावमेंभीकैलाशभगतसुरजेवालासे24हजारवोटोंसेहारगए।तीनोंचुनावमेंकैलाशभगतदूसरेनंबरपररहे।कईसालोंतकइनेलोजिलाध्यक्षकेपदपररहेऔरप्रदेशकार्यकारिणीकेसदस्यभीथे।

कैलाशकेपिताअमरनाथभगतवर्ष1982मेंभाजपाकीसीटसेचुनावलड़चुकेहैं।वहशुरुआतसेहीसंघकेसदस्यरहेहैं।उन्होंनेहीकैलाशकोचारमार्च2019कोभाजपामेंज्वाइनकरवायाथा।

जिलेमेंअबचारचेयरमैन,एकमंत्री

कैथलऐसाजिलाबनगयाहै,जिसकेचारोंहलकोंसेप्रदेशसरकारमेंकोईनकोईनेतापदपरपहुंचगयाहै।कलायतहलकेसेविधायककमलेशढांडासरकारमेंमहिलाएवंबालविकासराज्यमंत्रीहैं।पूंडरीकेनिर्दलीयविधायकरणधीरसिंहगोलनहरियाणापर्यटननिगमकेचेयरमैनहैं।कैथलसेकैलाशभगतकोअबहैफेडकाजिम्मादियागयाहै।इनसेपहलेअपनेगानोंकीवजहसेविपक्षकेनिशानेपररहनेवालेफायरब्रांडरॉकीमित्तलस्पेशलपब्लिसिटीसेलकेचेयरमैनहैं।गुहलासेअभीतककोईहिस्सेदारीसरकारमेंनहींथी।लिहाजासरकारमेंगठबंधनवालीजजपाकेविधायकईश्वरसिंहकेबेटेरणधीरसिंहकोहरियाणाडेयरीविकाससंघकाचेयरमैनबनायागयाहै।चीकासेशुगरफैडकेचेयरमैनरहेहरपालचीकाकेहटाएजानेपरउनकोनियुक्तिदीगईहै।