सिंह

खपत(भारतमें)2.4लीटर2015में5.7लीटर2016मेंउपभोगकिया4.2लीटरपुरुषोंने1.5लीटरमहिलाओंनेकुलप्रतिव्यक्तिखपत5.5लीटर2005में6.4लीटर2010में6.4लीटर2016मेंएजेंसियां,नईदिल्ली:भारतमेंशराबकीबढ़तीखपतपरविश्वस्वास्थ्यसंगठन(डब्ल्यूएचओ)नेहैरानकरदेनेवालीरिपोर्टपेशकीहै।इसकेमुताबिक,भारतमेंप्रतिव्यक्तिशराबकीखपत2005से2016तकदोगुनाहोगईहै।रिपोर्टमेंकहागयाहैकि2025तकडब्ल्यूएचओक्षेत्रोंकेआधेक्षेत्रोंमेंकुलप्रतिव्यक्तिशराबकीखपत(15+वर्ष)मेंवृद्धिहोनेकीउम्मीदहैऔरदक्षिण-पूर्वएशियाक्षेत्रमेंसबसेज्यादाबढ़ोतरीकीउम्मीदहै।केवलभारतमेंही2.2लीटरवृद्धिकीउम्मीदहै।भारतइसक्षेत्रमेंकुलजनसंख्याकेएकबड़ेहिस्सेकाप्रतिनिधित्वकरताहै।इंडोनेशियाऔरथाइलैंडमेंभीकुछवृद्धिहोनेकीउम्मीदहै।दूसरीसबसेज्यादावृद्धिपश्चिमीप्रशांतक्षेत्रकीआबादीकेलिएअनुमानितहै,जहांचीनकीआबादीसबसेबड़ीहै।इसक्षेत्रमें2025तकशुद्धशराबकीप्रतिव्यक्तिखपतमेंवृद्धि0.9लीटरहोनेकीउम्मीदहै।रिपोर्टमेंकहागयाहैकि2000और2005केबीचअपेक्षाकृतएकस्थिरचरणकेबादवैश्विकरूपसेप्रतिव्यक्तिशराबकीखपतमेंवृद्धिहुईहै।शराबहैघातकऐल्कॉहॉलकाहानिकारकउपयोगदुनियाभरमेंलोगोंकेस्वास्थ्यकेलिएप्रमुखजोखिमकारकोंमेंसेएकहैजोमातृऔरशिशुस्वास्थ्य,संक्रामकरोग(एचआईवी,वायरल),हेपेटाइटिस,तपेदिक),गैर-संचारीबीमारियांऔरमानसिकस्वास्थ्यसमेतसततविकासलक्ष्यों(एसडीजी)केकईस्वास्थ्य-संबंधीलक्ष्योंपरप्रत्यक्षरूपसेप्रभावडालताहै।2016मेंऐल्कॉहॉलकेहानिकारकइस्तेमालसेदुनियाभरमें30लाखलोगों(सभीतरहकीमौतोंका5.3प्रतिशत)कीमौतहुई।रिपोर्टमेंकहागयाहैकिशराबकाहानिकारकइस्तेमाल200सेज्यादाबीमारियोंऔरचोटोंकीस्थितियोंमेंएककारणरहाहै।--------------------------------दुनियाभरमेंहर20मेंसे1मौतशराबकीवजहसे:डब्ल्यूएचओजिनिवा:विश्वस्वास्थ्यसंगठननेशुक्रवारकोकहाकिशराबकीवजहसेदुनियाभरमेंहरसाल30लाखलोगोंकीमौतहोजातीहै।यहएड्स,हिंसाऔरसड़कहादसोंमेंहोनेवालीमौतोंकोजोड़करप्राप्तआंकड़ोंसेभीज्यादाहै।खासतौरपरपुरुषोंकेलिएयहखतराज्यादारहताहै।शराबऔरस्वास्थ्यपरसंयुक्तराष्ट्रकीस्वास्थ्यएजेंसीकीयहनईरिपोर्टबतातीहैकिदुनियाभरमेंहरसालहोनेवाली20मेंसे1मौतशराबकीवजहसेहोतीहै।इनमेंशराबपीकरगाड़ीचलाने,शराबपीकरहिंसाकरने,बीमारीऔरइससेजुड़ीदूसरीविकृतियोंकीवजहसेहोनेवालीमौतेंशामिलहैं।500पन्नोंकीहैरिपोर्ट3/4ज्यादापुरुषशराबकीवजहसेमौतकाशिकारहोते200सेज्यादास्वास्थ्यसंबंधीबीमारियांहोतीहैं,कैंसरसमेत30लाखलोगोंकीमौतहुईथी2016मेंशराबकेकारण23.7करोड़पुरुषएल्कॉहॉलकीचपेटमें4.6करोड़महिलाएंऐल्कॉहॉलसेजुड़ीसमस्याकासामनाकररहीं

By Fowler