कांग्रेस

दरअसल,स्वास्थ्यराज्यमंत्रीअश्विनीकुमारचौबेनेमंगलवारकोराज्यसभामेंएकसवालकेलिखितजवाबमेंबतायाकिकोरोनासेदेशमें162डॉक्टरों,107नर्सोंऔर44आशाकार्यकर्ताओंकीमौतहुईहै।चौबेनेयहभीबतायाकियहआंकड़े22जनवरीतकराज्योंसेमिलीसूचनाओंपरआधारितहैं।स्वास्थ्यराज्यमंत्रीअश्विनीकुमारचौबेसेपूछागयाकिक्यामंत्रालयनेकोरोनासेजानगंवानेवालेस्वास्थ्यकर्मियोंकेबारेमेंभारतीयचिकित्सासंघद्वारादिएगएआंकड़ोंपरसंज्ञानलियाहै।

सवालमेंपूछागयाथाकिक्यासरकारकीओरसेइनकेसत्यापनकेलिएकोईप्रयासकिएगएहैं।इसपरस्वास्थ्यराज्यमंत्रीअश्विनीकुमारचौबेनेकहाथाकिकोरोनासेजानगंवानेवालेव्यक्तिकेसत्यापनकीजिम्मेदारीराज्यसरकारयाकेंद्रसरकारकेसंबद्धप्राधिकारियोंकीहै।कोविडसेमौतकासत्‍यापनवहस्वास्थ्यसंस्थानयासंस्थानयाकार्यालयकरताहैजहांपीड़ितकामकरताथा।इसकेबादसंबद्धप्राधिकारीउसेआगेबढ़ातेहैं।दावेकोबीमाकंपनीकेसमक्षपेशकरतेहैं।

समाचारएजेंसीआइएएनएसकेमुताबिकचौबेकोलिखेपत्रमेंआईएमएअध्यक्षजेएजयलालनेकहाकिकेंद्रकीओरसेजारीआंकड़ोंमेंविरोधाभास है।कोरोनाकीवजहसे744डॉक्टरोंकीमौतहुईहै।कोरोनाजैसीमहामारीकेदौरानडॉक्टरोंनेचिकित्सापेशेकीसर्वश्रेष्ठपरंपराओंमेंराष्ट्रकीसेवाकरनेकाविकल्पचुनाथा।आईएमएअध्यक्षनेसरकारकेआंकड़ोंपरसवालउठातेहुएसरकारीउदासीनताकीनिंदाकी।साथहीकोरोनापीड़ितोंकेपरिवारोंकेलिएमुआवजादेनेमेंदेरीकामसलाभीउठाया।

By George